शनिवार, 30 अप्रैल 2022

टीम बिल्डिंग और नेतृत्व (Team Building & Leadership)

 Importance of Team Building & Leadership

Types of Leadership

If we want to go fast, move alone, if we want to go far move together

यहीं से Team Building की बात शुरु होती है।

अगर कोई पहाड चढ़ना हो, अकेले भी काफी, लेकिन यदि माउँट एवरेस्ट, कंचनजंगा, नंदा देवी या दूसरा कोई बड़ी शिखर चढ़ना हो, तो टीम बनानी पड़ेगी, अकेले चढ़ना संभव नहीं। अगर कुछ लोगों को पढ़ाना हो तो अकेले काफी, लेकिन यदि पूरे गाँव को तो स्कूल की व्यवस्था, टीचरों की एक टीम। यदि पूरे जिले को पढ़ाना हो तो, कॉलेज, लेक्चररों की टीम, यदि पूरा देश या विश्व को शिक्षित तो यूनिवर्सिटी, प्रोफेसरों की टीम। साथ में तमाम नॉन अकादमिक स्टाफ की टीम। अपना इंस्टीच्यूट, अपना सेंटर।

टीम का अर्थ है like minded persons, एक लक्ष्य के लिए समर्पित committed सदस्यों का समूह, इनके साथ ही लीड़रशिप की बात शुरु होती है।

Leadership का मतलब नेताजी नहीं, जो आज काफी बदनाम शब्द हो चला है, जो किसी भी तरह जोड़-तोड़कर, जनता को बेवकूफ बनाकर बोट एंठने, सत्ता में आने के लिए आतुर।

Leadership का यहाँ अर्थ Quality, एक गुण, एक विशेषता है, एक influence, एक प्रभाव, एक motivation, inspiration, एक guiding force, जो team को लीड कर अंजाम तक पहुँचाए।

Leadership

If your action inspires others to Dream more, Learn more, Do more and Become more, you are a Leader. – John Quining Adam

So leadership is an influence, an impact, a motivation, an inspiration.

नेतृत्व के संदर्भ में दो मत

·         Trait theory, जो कहती है कि  

o   नेतृत्व एक वृति, जन्मजात, जिसे सीख नहीं सकते।, जैसे स्वामी विवेकानन्द, सुभाषचंद्र बोस। LaxmiBai,

·         Behavioral theory, जो कहती है कि  

o   नेतृत्व, एक व्यवहार की शैली है, जिसको सीखा जा सकता है।, जैसे – Lal Bahadur Shastry, IndiraGandhi (वाजपेयी जी के शब्दों में गुंगी गुड़िया से दुर्गा,1971 युद्ध)

Leadership कई तरह की हो सकती है।

Types of Leadership

1.      Dictatorship – Authoritarian – Autocratic तानाशाही, अधिनायकवादी,

Do what I tell you,  तानाशाही, यहाँ नेता माने - बॉस, जनता की बातों का कोई मोल नहीं, जो नेताजी ने सोचा, कहा वही आदेश।

दूसरे विश्वयुद्ध के दौरान, हिटलर, मुसोलिनी, स्टालिन आदि। आज उत्तरी कोरिया के किंम जोंग, मिलिट्री शासक।

आलोचना, प्रतिपक्ष का कोई अस्तित्व नहीं, विरोधी स्वरों को कुचल दिया जाएगा।

उपयोगी, 1 जब समय कम निर्णय का ,, 2, जब जनता अनपढ़, अनगढ़, कौशलहीन, तब सफल

यदि जनता पढ़ी लिखी, समझदार तो न चले तानाशाही। इसके अपने खतरे भी।

2.      Democratic – Participatory – लोकताँत्रिक – Your opinion are listened. to

जनता द्वारा चयनित नेता, जनता की राय व निर्णय को महत्व, प्रतिपक्ष का महत्व, जितना प्रतिपक्ष मजबूत लोकतंत्र भी मजबूत।

लेकिन यदि जनता अनपढ़, तो फिर गढ़वढ़ी शुरु। चुनाव गलत हो सकता है, जिसके कारण आज संसद में कितने अपराधी, बाहुबली नेता पहुँच चुके हैं।

यदि जनता समझदार तो सबसे वेहतरीन नेतत्व।

3.      Lassez-faire – Hand off, Individualistic,

Trust is the stepping stone of success...Minimum intervention of leadership…

टीम के हाथों नेतृत्व, जहाँ टीम स्किल्ड, समझदार, जानकार।

जैसे विश्वविद्यालय के विभाग। विभागाध्यक्ष। प्रोफेसर, टीचर व अन्य।

Warren Buffet…

4.      Transactional leadership – Profit/Motive driven, लाभ प्रेरित(आज के बिजनेस में प्रचलित)

Clear Goal, award, reward, punishment

Team as worker,

गुणा-भाग से चालित नेतृत्व, नफे-नुक्सान का रिश्ता। यदि लाभ तो पुरस्कार, यदि हानि तो दण्ड।

5.      Transformational –

Beyond profit-loss, Heart_Soul driven..

नेता यहाँ दिल पर राज करे,..

Team feels empowered, transformed….

यहाँ नेतृत्व नियमों से न चले, दिल से राज करे। प्रेरक नेतृत्व। जनता के मूल्य, विश्वास को बदल डाले।.. Visionary..दूरदर्शी, समग्र दृष्टि रखे..समझदार..

जैसे–गुरु गोविंद सिंह, सवा लख से एक लड़ाऊँ, तो गुरु गोविंद सिंह कहाऊँ।

परमपूज्य गुरुदेव, सुभाष चन्द्र बोस, स्वामी विवेकानन्द।....

6.      Charismatic – जादुई –

व्यक्तित्व का असर। कम्यूनिकेशन स्किल भी। Personal AURA..

जैसेरजनीकांत, जया ललिता आदि। Gandhi, JP Narayan..

7.      लोकप्रिय, Populist – अपनी पर्फोर्मेंस के आधार पर, लेकिन जनता के मूड़ को बदलते देर नहीं लगती, कब पलट जाए। सतत अपेक्षाओं पर खरा उतरना जरुरी, तभी।

 

8.      बिजनरी, दूरदर्शी,

Embrace my vision,

अबदुल कलाम आजाद, बिजन 2020, अटल विहारी वाजपेयी...परमाणु परीक्षण।

यशवंत सिंह परमार, गोविंद बल्लभ पंत......

9.      Service leadership –

सेवा,

जैसे गांधी (राजनीति भी सेवा, पत्रकारिता भी सेवा), बिनोवा, रामकृष्ण परमहंस(आध्यात्मिक नेतृत्व)। भक्ति भाव से, सेवा भाव से, निष्काम भाव से।

सबसे बड़ा उदाहरण – घर में माँ। सेवा करते हुए भी दिलों पर शासन।

 

10.  Burocratic –  Follow the procedure

प्रशासनिक. पद की शक्ति, बाकि बंधे बंधाए नियमों से चले। नेतृत्व का कार्य इनको लागू कर।

 

11.  Situational –

जैसे पक्षी का झुंड, कोई भी लीड़ कर सकता है।

उदाहरण – सोशल इंटर्नशिप – योग आसन, मनो-परामर्श, पर्यटन टूर गाईड, पर्यावरण समाधान, भाषा, संस्कृति पुरातत्व, रिपोर्टिंग-साक्षात्कार, शिक्षा, वेब डिजायनिंग, एनिमेशन आदि।

12.  Accidental Leadership वाई चांस, आक्समिक – परिस्थितिजन्य नेतृत्व

उदाहरणदेवगौड़ा, इंद्रजीत गुजराल, मनमोहन सिंह आदि।